पेट्रोलियम पदार्थों का उत्पादन जारी,एलपीजी की खपत बढ़ी


मथुरा, कोरोना महामारी के चलते जारी देशव्यापी लॉकडाउन के बीच भले ही पेट्रोल-डीजल की खपत कम हुई लेकिन रसौई गैस (एलपीजी) की खपत बढ़ जाने के कारण मथुरा रिफाइनरी में इसका उत्पादन बढ़ा दिया गया है।



मथुरा स्थित इंडियन ऑयल की रिफाइनरी के कार्यकारी निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख अरविंद कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते जारी लॉकडाउन में डीजल-पेट्रोल की खपत में कमी आई लेकिन एलपीजी की खपत बढ़ जाने से उसका उत्पादन बढ़ा दिया गया है । उन्होंने अन्य पेट्रोलियम पदार्थों का उत्पादन मांग के अनुकूल अनवरत जारी है तथा सभी यूनिट्स सुचारू रूप से काम कर रही हैं।



देश भर में जारी लॅाकडाउन के दौरान लोग घरों में हैं जिससे पट्रोल डीजल की खपत में तो कमी आई है। रिफाइनरी पूर्ण रूप से उत्पादन कर रही है और पेट्रोलियम पदार्थों का पूर्ण भंडार है। इसलिए रिफाइनरी ने अपना पूरा ध्यान घरेलू एलपीजी गैस के उत्पादन पर लगा दिया है।



उन्होंने बताया कि समाज के हर वर्ग के बेहतर स्वास्थ्य के लिए कटिबद्ध मथुरा रिफाइनरी द्वारा लगभग एक हजार संविदा कर्मियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया है। इसके साथ ही जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी जरूरत के आधार पर लगातार रिफाइनरी में निर्मित डब्ल्यूएचओ मानक सेनेटाइज़र उपलब्ध कराया जा रहा है। जरूरतमंदों और गरीब परिवारों को जरूरत का राशन भी प्रदान किया जा रहा है।



रिफाइनरी प्रमुख कुमार ने बताया कि रिफाइनरी अपने सामाजिक दायित्वों का पूर्ण रूप से निर्वहन कर रही है। रिफाइनरी अपने अधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ ही संविदा श्रमिकों के स्वास्थ्य को लेकर भी सजग है। इसी क्रम में रिफाइनरी के गेट नंबर 9 में पांच दिवसीय स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया जिसमें संविदा श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच की गई। रिफाइनरी अस्पताल में एक हजार से अधिक श्रमिकों का परीक्षण किया।



शिविर के दौरान सोशल डिस्टैेंसिंग का पूरा ध्यान रखते हुए श्रमिकों को कोरोना से बचाव के लिए समय-समय पर साबुन और पानी से हाथ धोने, मास्क का उपयोग करने एवं शारीरिक स्वच्छता बनाए रखने के साथ ही जरूरी दिशा-निर्देशों का पालन करने के लिए भी प्रेरित जा रहा है।



उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना वाइरस से बचाव के लिए रिफाइनरी, टाउनशिप और आस-पास के गांवों में सैनेटाइजेशन और कई संबंधित कार्य किए हैं। रिफाइनरी के फायरटेंडर द्वारा टाउनशिप क्षेत्र और बाद, अगनपुरा, छड़गांव, धानातेजा, धानाशमशाबाद जैसे कई गांवों में सैनेटाइज़र का छिड़काव किया गया है। इन इलाकों में घरों, गलियों और सामाजिक भवनों को भी प्रमुखता से सेनेटाइज़ किया है।



प्रबंधक, कार्पोरेट कम्यूनिकेशन मथुरा रिफाइनरी रेनु पाठक के अनुसार कोरोना वाइरस से बचने के लिए रिफाइनरी ने आस-पास के कई गांवों में ट्रिपल लेयर कॅाटन मास्क वितरित किए हैं। इन मास्क को टाउनशिप की गृहणियों ने बनाया है। पूर्व में भी रिफाइनरी द्वारा कई गांवों में मास्क एवं सैनेटाइज़र का वितरण किया जा चुका है।