घर लौट रहे मजदूरों के लिये सरकार ने की रोजगार की ये व्यवस्था ?




नयी दिल्ली , कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर प्रवासी श्रमिकों के अपने अपने घर लाैटने के कारण उन्हें स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से मनरेगा के लिए 40 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया जा रहा है।



वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आज लगातार पांचवे दिन संवाददाताओं से चर्चा में यह जानकारी देते हुये कहा कि चालू वित्त वर्ष के बजट में मनरेगा के लिए 61 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है लेकिन काेरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर अब 40 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया जा रहा है।



उन्होंने कहा कि प्रवासी और गरीबों को त्वरित मदद की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘जान है तो जहान है’ का नारा दिया था और इसकी के मद्देनजर जीवन को प्राथमिकता दी जा रही है। गरीबों को तुरंत आर्थिक मदद दी जा रही है।



उन्होंने कहा कि 40 हजार करोड़ रुपये के अतिरिक्त आवंटन से 300 करोड़ व्यक्ति दिवस रोजगार सृजित होंगे। कोरोना के कारण घर लौट रहे मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी और इससे जल संरक्षण संपदा के साथ ही अन्य कार्य कराये जायेंगे।
उन्होंने कहा कि इससे उच्च उत्पादकता के साथ ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी।