कोरोना के बारे मे गलत सूचनाओं को लेकर संयुक्त राष्ट्र चिंतित, की ये बड़ी पहल ?

संयुक्त राष्ट्र,  संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने सावधान किया कि दुनिया इस समय जब घातक कोविड-19 महामारी से लड़ रही है, हम व्हाट्सएप जैसे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोविड-19 के बारे में गलत जानकारियां फैलायी जाने से एक और खतरनाक महामारी का सामना कर रहे हैं।


उन्होंने ढेर सारे लोगों की जिंदगी को खतरे में डालने वाली इन गलत सूचनाओं के ‘‘जहर’’ का मुकाबला करने के लिए तथ्यों और विज्ञान पर आधारित चीजों को इंटरनेट पर डालने की संयुक्त राष्ट्र की नयी पहल की घोषणा की है।


मंगलवार को एक संदेश में संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कोरोना वायरस के बारे में दुनियाभर में दी जा रहीं झूठी जानकारियां और गलत स्वास्थ्य सलाह पर गंभीर चिंता व्यक्त की।


गुतारेस ने कहा, ‘‘दुनिया घातक कोविड-19 महामारी से लड़ रही है, जो द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण संकट है। वहीं हम गलत सूचना फैलाए जाने की एक और खतरनाक महामारी का सामना कर रहे हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘झूठी बातें फैल रही हैं। कोरोना वायरस की महामारी को साजिश करार देने वाली उल्टी सीधी चीजें इंटरनेट को संक्रमित कर रही हैं। घृणा फैलाने वाली सामग्री वायरल हो रही है, लोगों और समूहों पर कलंक मढ़ा जा रहा है और उन्हें दोषी ठहराया जा रहा है। दुनिया को इस बीमारी के खिलाफ एकजुट होना चाहिए।’’ उन्होंने सभी राष्ट्रों से झूठ और बेहूदी चीजों को अस्वीकार करने की अपील की।


गलत सूचनाओं के बढ़ते संकट का मुकाबला करने के लिए तथ्यों और विज्ञान पर आधारित सामग्रियों को इंटरनेट पर डालने के लिए संयुक्त राष्ट्र की एक नयी पहल की घोषणा की।