कामगारों की समस्याओं के समाधान के लिए, देशभर में नियंत्रण कक्ष स्थापित

नयी दिल्ली ,  सरकार ने कोरोना वायरस (कोविड 19) महामारी से निपटने के लिए लागू पूर्णबंदी के दौरान कामगारों की समस्याओं और परेशानी का समाधान करने के लिए देशभर में बीस नियंत्रण कक्ष स्थापित किए हैं। श्रम और रोजगार मंत्रालय ने मंगलवार को यहां बताया कि कोविड 19 महामारी के मद्देनजर पैदा हुई दिक्कतों को देखते हुए देश भर में मुख्य श्रम आयुक्त कार्यालय के अंतर्गत 20 नियंत्रण केंद्रों की स्थापना की है।


ये नियंत्रण केंद्रों केंद्रीय क्षेत्र में कार्यरत कामगारों की वेतन से संबंधित शिकायतों का समाधान करेंगे और विभिन्न राज्य सरकारों के साथ समन्वय से प्रवासी कामगारों की समस्याओं को दूर करेंगे। ये नियंत्रण कक्ष अहमदाबाद, अजमेर ,आसनसोल, बेंगलुरु भुवनेश्वर, चंडीगढ़ , चेन्नई, कोचीन , देहरादून, दिल्ली, धनबाद, गुवाहाटी , हैदराबाद, जबलपुर , कानपुर, कोलकाता , मुंबई, नागपुर, पटना, और रायपुर में स्थापित किए गए हैं।


कामगार फोन नंबरों, वाट्सऐप और ई-मेल से इन नियंत्रण कक्षों से संपर्क कर सकते हैं। इन नियंत्रण केंद्रों का प्रबंधन संबंधित क्षेत्रों के श्रम प्रवर्तन अधिकारी, सहायक श्रम आयुक्त और उप मुख्य श्रम आयुक्त करेंगे। इन सभी केंद्रों के कामकाज की निगरानी और पर्यवेक्षण की निगरानी दैनिक आधार पर मुख्यालय के मुख्य श्रम आयुक्त करेंगे।


मंत्रालय के अनुसार सभी संबंधित अधिकारियों को पीड़ित कामगारों की सहायता में मानवीय दृष्टिकोण अपनाने और जरूरतमंद लोगों को समयबद्ध तरीके से राहत सुनिश्चित करने की सलाह दी गयी है।