देश में कोरोना से उत्पन्न समस्याओं के समाधान के लिये कल होगी ये महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली,  देश में कोरोना महामारी की वजह से उत्पन्न समस्याओं के समाधान की दिशा में ‘पार्लियामेंटेरियंस विद इन्नोवेटर्स फॉर इंडिया’ (पीआई इंडिया) के एक्शन ग्रुप की पहली बैठक 15 अप्रैल को होगी। एक्शन ग्रुप में 11 राज्यों और नौ अलग-अलग राजनीतिक दलों के सांसद और राजनेता शामिल हैं।


सांसदों में अगाथा संगमा, जीएलवी नरसिम्हा राव, जमयांग सेरिंग नामग्याल, कलानिधि वीरास्वामी, कार्ति चिदंबरम, कुंवर दानिश अली, लावु श्रीकृष्णा, महुआ मोइत्रा, मनीष तिवारी, प्रियंका चतुर्वेदी, डॉ. राजीव गौड़ा, डॉ. सुधांशु त्रिवेदी, सुजीत कुमार और वरुण गांधी-शामिल हैं। समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता घनश्याम तिवारी पीआई इंडिया के नेशनल कॉर्डिनेटर हैं।


अनिल एंटनी देश के दक्षिण और पश्चिमी राज्यों के कॉर्डिनेटर हैं। रजत सेठी नॉर्थ, सेंट्रल और ईस्ट के राज्यों के कॉर्डिनेटर की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। संसद सदस्यों और राजनेताओं के अलावा एक्शन ग्रुप में सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च, पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया, पांच शीर्ष वेंचर कैपिटल फर्म्स और पब्लिक हेल्थ एवं पॉलिसी से जुड़े वैश्विक विशेषज्ञ भी शामिल हैं। अब तक इनकी छह वेबसाइट पर 250 से ज्यादा प्रस्ताव आ चुके हैं।


एक्शन ग्रुप का एक महत्वपूर्ण मिशन ये भी है कि भारत के लाखों प्रोफेशनल्स को एक साथ जोड़कर ऐसे समाधान खोजे जाएं जिससे देश सुरक्षित और वक्त के साथ ज्यादा बेहतर बन सके।


एक्शन ग्रुप देश भर में ऐसे सक्षम लोगों की टीम तैयार करेगा जो कोरोना वायरस की वजह से उत्पन्न स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, जीविका और अन्य समस्याओं के समाधान के लिए जमीनी स्तर पर ठोस कार्यों को अंजाम दे सकें।